Entertainment

रियान स्कूल हत्याकांड: ‘क्या गुनाह था मेरे बच्चे का’ इस गाने को सुनकर आपके आंखों में आंसू आ जायेगा

नई दिल्ली : गुरुग्राम के रियान इंटरनेशनल स्कूल में हुई प्रद्युम्न की निर्मम हत्या के आरोपी छात्र को तो सीबीआई ने पकड़ लिया है। लेकिन उसकी माँ को उसके सवाल का जवाब नहीं मिल पाया है ।  बच्चे की मां सुषमा ठाकुर अभी भी बस एक ही रट लगाए बैठी है कि ‘क्या गुनाह था उनके बेटे का ?’

 सुषमा के इसी  दर्द को बयां करता गीत- ‘क्या गुनाह था मेरे बच्चे का..’ प्रद्युम्न फाउंडेशन की तरफ से यूट्यूब पर  डाला गया है। इस गीत को अबतक 5 लाख लोग देख चुके है। इस गीत में प्रद्युमन  माँ की मानसिक स्थिति और बेटे को खोने के दर्द को दिखाने की कोशिश की गयी  है। इस गीत को जानेमाने लेखक एवं गीतकार डॉ. बीरबल झा ने लिखा है और संजना प्रियदर्शिनी ने इसे स्वर दिया है
इस गीत के लेखक डॉ. झा के मुताबिक इस गीत में प्रद्युमन  माँ  विलाप नहीं कर रही बल्कि दुनिया की माँ को सचेत कर रही है की दरिंदा अब विद्या के मंदिर तक पहुंच गया है जो बच्चों के साथ समाज के लिए भी खतरा है।