Events/ workshops Metro Cities

पूर्वी दिल्ली नगर निगम में आयोजित किया गया बाल दिवस समारोह

नई दिल्ली। पूर्वी दिल्ली नगर निगम द्वारा  पटपड़गंज, उद्योग सदन मुख्यालय के सभागार में बाल दिवस समारोह का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि के रूप में सांसद, भाजपा दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष, मनोज तिवारी मौजूद थे। विशिष्ट अतिथि के रूप में पूर्वी दिल्ली की महापौर, नीमा भगत; उपमहापौर, बिपिन बिहारी; स्थायी समिति के अध्यक्ष, प्रवेश शर्मा; नेता सदन, संतोष पाल व नेता प्रतिपक्ष, अब्दुल रहमान व पूर्वी दिल्ली नगर निगम के आयुक्त, रणबीर सिंह व अतिरिक्त आयुक्त, आर.एस.मीणा के साथ विनोद कुमार सहित तमाम शिक्षक उपस्थित मौजूद रहे । कार्यक्रम की अध्यक्षता शिक्षा समिति की अध्यक्ष, सुश्री हिमांशी पाण्डेय ने की।


इस मौके पर मनोज तिवारी ने कहा कि संपूर्ण भारत में प्रधानमंत्री, स्वर्गीय पंडित जवाहर लाल नेहरू की याद में 14 नवम्बर को बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है। उन्होंने बच्चों द्वारा प्रस्तुत किए गए सांस्कृतिक कार्यक्रम की बेहद प्रशंसा की। तिवारी ने कहा कि आज ‘डायबिटिज़ डे’ है, जो बच्चे इस बीमारी से जूझ रहे हैं, उन्हें हमें पूरा सहयोग देना चाहिए। हमें प्रण लेना चाहिए हम बच्चों के लिए हर स्तर पर कार्य करें। इसके साथ ही हमें स्वयं में दया की भावना जागृत करनी चाहिए।
तिवारी ने कहा कि पूर्वी दिल्ली नगर निगम पूरी सक्षमता के साथ कार्य कर रहा है। उन्होंने कहा कि विद्यालयों में स्वच्छता हेतु सभी सजग रहें। उन्होंने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करने वाले बच्चों व अध्यापकों को एक लाख रुपए का इनाम देने की घोषणा की।
नीमा भगत ने कहा कि नेहरू जी बच्चों से बहुत प्यार करते थे, इसलिए ये दिन बच्चों में लिए उमंग-उत्साह से भरा हुआ होता है। उन्होंने कहा कि माननीय प्रधानमंत्री, श्री नरेंद्र मोदी जी के ‘‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’’ के लक्ष्य का अनुसरण करते हुए शिक्षा के प्रति जागरूक करना चाहिए। उन्होंने कहा बच्चों की सुरक्षा हमारा प्रथम कर्तव्य है, उन्हें ‘गुड टच व बैड टच’ के विषय में भी अवश्य बताएं।
प्रवेश शर्मा ने कहा कि बच्चों ने जो कार्यक्रम प्रस्तुत किए, उससे यह साबित होता है कि वे किसी प्राइवेट स्कूल के बच्चों से कम नहीं हैं। यदि उन्हें उचित संसाधन व अवसर प्रदान किए जाएं तो उनका भविष्य उज्जवल होगा।
संतोष पाल ने कहा कि बच्चों को शिक्षा के साथ-साथ नैतिक मूल्यों के बारे में भी बताएं। उन्होंने कहा कि बच्चों के स्वास्थ्य के प्रति ध्यान देना हमारी ज़िम्मेदारी है।
रणबीर सिंह ने कहा कि हर व्यक्ति बचपन के दौर से गुज़रता है। बचपन जीवनकाल की सबसे महत्वपूर्ण अवस्था है। उन्होंने कहा कि बच्चों के जीवन निर्माण की रूपरेखा अध्यापक व अभिभावक दोनों के हाथों में होती है। हमें बच्चों के सर्वांगीण विकास पर ध्यान देना चाहिए।